Skip to main content

Posts

Showing posts from March, 2015

MAHAKAL STATUS FOR SHIVRATRI

Truth of RED FORT (लाल किले का सच )

Truth of Lal Qila (लाल किले का सच )

महाराज अनंगपाल तोमर द्वितीय का लाल कोट क्या आप जानते हैं कि दिल्ली के लालकिले का रहस्य क्या है और इसे किसने बनवाया था?
अक्सर हमें यह पढाया जाता है कि दिल्ली का लालकिला शाहजहाँ ने बनवाया था| लेकिन यह एक सफ़ेद झूठ है और दिल्ली का लालकिला शाहजहाँ के जन्म से सैकड़ों साल पहले "महाराज अनंगपाल तोमर द्वितीय" द्वारा दिल्ली को बसाने के क्रम में ही बनाया गया था| यह जानकर आप ख़ुशी से उछल ही पड़ेंगे कि महाराज अनंगपाल तोमर और कोई नहीं बल्कि महाभारत के अभिमन्यु के वंशज तथा महाराज पृथ्वीराज चौहान के नाना जी थे|

Rajputana Pharases

Rajputana Words
(We should Know)
Thakur: Thakur is an Indian feudal title in several Indian languages, literally meaning "lord". In Rajasthan, the title Thakur is usually adopted by Kshatriyas such as Rajputs. Thakur also conveys a designation meaning he is the head of the family and no one is above him. Son of Thakur is known as 'Kunwar', grandson as 'Bhanwar' and greatgrand son as 'Chel bhanwar'.'Kunwar' is the one who has his father alive and 'Bhanwar' is the one who has his grandfather alive and so on.

Thikana: A Thikana is the state or (more often) estate of a Thakur.
Kunwar: Son (Kunwarani if Daughter) of Thakur is known as Kunwar.
Bhanwar: Grandson (Bhanwarani if Grand-daughter) of Thakur is known as Bhanwar.
Zamindar: A zamindar or zemindar was an aristocrat, typically hereditary, who held enormous tracts of land and held control over his peasants, from whom the zamindars reserved the right to collect tax (often for military purposes). Ov…

HISTORY OF JAMWAL

JAMWALS  
Jamwal is a SuryavanshiRajput clan of Chattari lineage in Jammu and Kashmir that claims solar origin by direct descent from Sri Rama Chandra of Raghav (Raghuvanshi)Rajput clan. Jamwal traditions state that their ancestor, Raja Agnigarba, came from Ayodhya and founded a small state on the banks of RiverTawi. A few generations later, Raja Jambu Lochan founded the city and state of Jammu. In Rajputana their closest cousins are Raghav (Raghuvanshi) & KachwahaRajputs of Jaipur. The DograMaharajas of Jammu and Kashmir belong to this clan. Minhas, Nagyal, Thakial and Bersal and Kohaal Rajputs are also an offshoot of this clan. It is said that one Raja Malan Hans took up agriculture and left the throne to his younger brother, Raja Suraj Hans. Since that time Rajputs who took up agriculture are styled Minhas, whereas the name 'Jamwal' is confined to the royal branch. The history of the Jamwals dates back to the Ramayana period. They trace their ancestry to the Ikshvaku (Sola…

HISTORY OF BABA BALAK NATH JI IN HINDI

जय श्री बाबा बालकनाथ

बाबा बालकनाथ जीपंजाबीहिन्दू आराध्य हैं, जिनको उत्तर-भारतीय राज्य पंजाब और हिमाचल प्रदेश में बहुत श्रद्धा से पूजा जाता है, इनके पूजनीय स्थल को “दयोटसिद्ध” के नाम से जाना जाता है, यह मंदिर हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के छकमोह गाँव की पहाडी के उच्च शिखर में स्थित है। मंदिर में पहाडी के बीच एक प्राकॄतिक गुफा है, ऐसी मान्यता है, कि यही स्थान बाबाजी का आवास स्थान था। मंदिर में बाबाजी की एक मूर्ति स्थित है, भक्तगण बाबाजी की वेदी में “ रोट” चढाते हैं, “ रोट ” को आटे और चीनी/गुड को घी में मिलाकर बनाया जाता है। यहाँ पर बाबाजी को बकरा भी चढ़ाया जाता है, जो कि उनके प्रेम का प्रतीक है, यहाँ पर बकरे की बलि नहीं चढाई जाती बल्कि उनका पालन पोषण करा जाता है। बाबाजी की गुफा में महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबन्ध है, लेकिन उनके दर्शन के लिए गुफा के बिलकुल सामने एक ऊँचा चबूतरा बनाया गया है, जहाँ से महिलाएँ उनके दूर से दर्शन कर सकती हैं। मंदिर से करीब छहः कि.मी. आगे एक स्थान “शाहतलाई” स्थित है, ऐसी मान्यता है, कि इसी जगह बाबाजी “ध्यानयोग” किया करते थे।


कहानी बाबा बालकनाथ जी की कहानी बाबा …